All posts by Manish Verma

Astrology-Vedanta Consultation & Courses Online/Bhopal.

कर्मयोग का अर्थ

कर्मयोग का अर्थ ये कदापि नहीं है की जो भी परिणाम आए उसके प्रति अंधे होकर कर्म करते जावें, बल्कि ये है की कर्म को यज्ञ (ऑफरिंग) समझ कर करें.

गाइड मूवी – आत्मबोध

मौत एक ख़याल है जैसे ज़िंदगी एक ख़याल है. ना सुख है ना दुख है ना दीन है ना दुनिया ना इंसान ना भगवान सिर्फ़ मैं हूँ मैं हूँ मैं हूँ , मैं – सिर्फ़ मैं.

Explanation: Life and death are mere concepts. The world, men, God, happiness, sorrow are illusions. There is just Me, nothing else but Me.